पैदल घर वापसी के लिए मजबूर श्रमिक

0
101
Uttarakhand Goverment

रुड़की, हरिद्वार- दिल्ली राजमार्ग एन.एच-58 पर ऋषिकेश से मध्यप्रदेश जाने वाले 17 श्रमिक आज फिर पैदल जाते हुए दिखाई दिए। जब हमने इन लोगो से जानना चाहा तो ये लोग रो पड़े और अपनी दु:खभरी कहानी सुना सुनाई। इन श्रमिकों का कहना है कि ऋषिकेश में रहकर मेहनत-मजदूरी करते हैं। चूंकि 2 महीने से कोई काम नहीं मिला है इसलिए अब दो वक्त की रोटी नही मिल रही थी। अब हमलोगों के सामने भूखों की नॉबत आ गयी है। इन लोगों का कहना है कि अपने घर जाने के लिए प्रशासन से परमिशन की गुहार लगाई लेकिन परमिशन नही मिली। जिसके बाद यह निराश श्रमिक पैदल ही अपने घरों की तरफ निकल पड़े। तकरीबन 70 किलोमीटर का रास्ता तय कर यह रुड़की तक पहुंचे। जहां पत्रकारों ने इन्हें पैदल जाते देख इनसे बात की।

बातचीत के दौरान ही वहां से गुजर रहे झबरेड़ा से bjp विधायक देशराज कर्णवाल पत्रकारों ने इन श्रमिकों की सहायता की गुजारिश की, जिसके बाद विधायक ने श्रमिको को हरसंभव सहायता का भरोसा दिलाया तथा मौके पर अधिकारियों को बुलाकर श्रमिकों की सहायता करने को कहा।

Uttarakhand Goverment

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here