Uttarakhand Goverment

कोरोना से देश तबाह हो रहा है। रोज संक्रमित मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है। लॉकडाउन, सप्ताहिक बंदी और तमाम एतिहाद के बाद भी कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में गिरावट नहीं हो रही। वहीं मौत से देश में हाहाकार मचा हुआ है।

एक तरफ जहां 24 घंटे के अंदर देश देश में नए संक्रमित मरीज पहुंच संख्या चार लाख के करीब पहुंच गई चुकी है वहीं पर उसी वक्त 3500 से ज्यादा लोग कोरोना काल के गाल में समा गए हैं। ये आँकड़े और भी बड़े हैं, अगर जमीनी हकीकत को सही से आंकलन किया जाता है तो आंकड़ों भयावह होंगे। लेकिन कई राज्यों में डाटा को छुपाने का काम चल रहा है। मौतों की संख्या और संक्रमित मरीजों की संख्या भी कम करके बताई जा रही है।

सबसे बड़ी दिक्कत है बिहार और उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों की है। यहां स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हैं। आंकड़ों को छिपाये जा रहे हैं। लोकल मौतों की संख्या का योग और सरकार द्वारा जारी राज्य में मौतों की संख्या मेल नहीं खाती है। इससे आंकड़ों का खास खेल साफ पता चलता है। कई मरीज हॉस्पिटल तक पहुंचने से पहले दम तोड़ रहे हैं। तो कई हॉस्पिटल के बाहर मर रहे हैं। इनके रिकॉर्ड में तो सरकार के पास है न ही प्रशासन के पास।

Inconsolable family

सबसे बड़ी दिक्कत इतनी बड़ी अर्थव्यवस्था में ऑक्सीजन को लेकर है एक तरफ हम दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की बात कर रहे हैं दूसरी तरफ हालात इतने खराब है की अपने मानव पूंजी को सरकार ऑक्सीजन तक मुहैया नहीं करा पा रही हैं। जीवन रक्षक दवाई की किल्लत और कालाबाजारी प्रशासन के आंख के नीचे चल रहा है, ऐसा लगता है सरकार और प्रशासन चिर निंद्रा में सोए हो। मानव मौत पर परिजनों की चीख उनकी कानों तक पहुंच ही नहीं पा रही हो। पिछले 24 घंटे में मौत के आंकड़े👇

महाराष्ट्र-   771 मौतें
• दिल्ली-     395 मौतें
• यूपी-         295मौतें
• कर्नाटक-   270मौतें
• छत्तीसगढ़- 251मौतें
• गुजरात –    180मौतें
• झारखंड-     145मौतें
• उत्तराखंड-     85 मौतें
पुर भारत में- 3501 मौतें

Uttarakhand Goverment

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here