देहरादून: आखिरकार ऊर्जा विभाग के हड़ताली कर्मचारी काम पर लौटने के लिए मान गए हैं। देर रात काफी मान-मनौव्वल कर बाद राज्य के तकरीबन 3500 कर्मचारी काम पर लौट गए हैं।

तमाम कर्मचारी संघ अपने कर्मचारियों को समझाने में सफल रहे उन्होंने लिखित रूप से बातचीत के ब्यौरा कर्मचारियों के साथ साझा किया। इसके बाद ऊर्जा कर्मचारियों ने अपने संघ की बात मान ली।

इससे पहले तमाम कर्मचारी अपने संघ के नेताओं की अपील को अस्वीकार कर दिया था। जिसके बाद हड़ताल को लेकर असमंजस बनी हुई थी। हड़ताल पर कर्मचारियों के बीच दो फाड़ होने की खबर भी आ रही थी। इसके बाद लगातार मान-मनौव्वल का दौर चलता रहा। लेकिन देर रात ऊर्जा मंत्री के साथ बैठक की मिनट्स जारी की गई। इसके बाद ही कर्मचारी माने और काम पर लौटने का फैसला किया।

गौरतलब है कि कर्मचारी ऊर्जा संघ के कर्मचारी कल से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए थे। इसके बाद अधिकतर पावर प्लांट में उत्पादन ठप हो गई थी। राज्य के कई भागों में बिजली गुल होने की समस्या सामने आने लगी। इससे पहले विभाग के सचिव ने 2 दिनों से लगातार हड़ताल टालने की कोशिश की। इस दौरान संघों से कई दौर की वार्ता भी सचिव की हुई लेकिन वार्ता विफल रही।

आखिरकार आज राज्य के ऊर्जा मंत्री हरक सिंह रावत हरकत में आए और सभी संघों से बातचीत की। बातचीत में उन्होंने 1 महीने का समय मांगा और संघों को आश्वस्त किया कि उनकी वाजीब मांगों को सरकार मान लेगी, इसके बाद संघ ने संघों ने ऊर्जा मंत्री हरक सिंह रावत को समय देने का फैसला किया और हड़ताल वापस लेने की घोषणा की।

http://आज से बिजली व्यवस्था सुचारू….. काम पर लौटे हड़ताली कर्मचारी

http://ऊर्जा विभाग हड़ताल

http://Power workers strike

http://Electricity workers strike

Uttarakhand Goverment

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here