Uttarakhand Goverment

दिल्ली। दूसरी लहर में तबाही मचाने के बाद कोरोना वायरस के डेल्टा वेरिएंट (बी.1.617.2) ने अपना स्वरूप बदल लिया है। कोरोना के इस बदले स्वरूप को डेल्टा प्लस (K 417N) नाम दिया गया है।

प्राथमिक जानकारी नके अनुसार डेल्टा ने अपने स्पाइक प्रोटीन यानी ऊपरी सतह में तेज बदलाव किया है। वायरस ने यह बदलाव कर उसने अपनी क्षमता बढ़ा ली है। अब वह तेजी के साथ शरीर में प्रवेश कर सकता है। इससे संक्रमण की दर तेज़ हो सकती है। डॉक्टरों का अनुमान है कि डेल्टा प्लस(K 417N) वेरिएंट से शरीर में बनने वाली तथा बाहर बनाई गई मोनोक्लोनल एंटीबॉडी इस वेरिएंट पर शायद ही काम करे।

अनुसार है कि डेल्टा बैलेंस की मारक क्षमता पिछले दोनों वायरस से ज्यादा होगी। हालांकि इस वेरिएंट पर वेक्सीन कितना प्रभावी होगी, इस पर अभी अध्ययन चल रहा है।

देश में कोरोना के डेल्टा प्लस वैरिएंट (K 417N) के मामलों में लगातार वृद्धि हो है. सरकार के रही है। अभी तक यह भारत के 18 जिलों में फैल चुका है। कोरोना डेल्टा प्लस के 51 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं.

डेल्टा प्लस वैरिएंट के सबसे ज्यादा केस महाराष्ट्र में मिले हैं. महाराष्ट्र में अभी तक 20 मामले मिल चुके हैं, मध्य प्रदेश में 7 मरीज, पंजाब- गुजरात में 2-2, केरल में 03, आंध्र प्रदेश में 01, तमिलनाडु में 09, ओडिशा में 01, राजस्थान में 01, जम्मू, हरियाणा और कर्नाटक में भी 01-01 केस मिले हैं।

यहाँ बताते चलें कि देश में अब तक डेल्टा प्लस वैरिएंट से दो मरीजों की जान जा चुकी है. महाराष्ट्र में डेल्टा प्लस वैरिएंट से 80 वर्षीय बुजुर्ग का निधन हो गया. वहीं, मध्य प्रदेश के उज्जैन में भी डेल्टा प्लस वैरिएंट से 01 महिला की मौत हो गई थी. महिला और उसका पति, दोनों ही कोविड पॉजिटिव पाए गए थे. पति तो ठीक हो गया था, लेकिन उसकी पत्नी की मौत हो गई. महिला के पति ने बताया कि उसने वैक्सीन लगवाई थी लेकिन उसकी पत्नी को टीका नहीं लग पाया था।

एनसीआर पहुँचा कोरोना का डेल्टा प्लस वायरस

एनसीआर में भी अब कोरोना के ‘डेल्टा प्लस’ (Delta Plus) का पहला मामला सामने आया है। ‘डेल्टा प्लस’ (Delta Plus) से संक्रमित फरीदाबाद का रहने वाला यह शख्स एक आईटी पेशेवर है। इनमें संक्रमण की पुष्टि हुई है, हालांकि वह स्वस्थ हैं।

यह शख्स दिल्ली में नौकरी करता है और डेढ़ महीने पहले उसके नमूने जीनोम जांच के लिए भेजे गए थे, जिसकी रिपोर्ट शुक्रवार को आई। युवक के परिवार के सभी सदस्य भी स्वस्थ हैं। उन्होंने बताया कि युवक अप्रैल के आखिर में दिल्ली में एक शादी समारोह में गया था, उसके बाद उसे बुखार हुआ था। जांच के बाद उसमें कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई।

सरकार अब उनके सम्पर्क में आये सभी लोगों की लिस्ट तैयार कर रही है। इन सभ की जीनोम सिक्वेंसिंग करवाई जाएगी। सरकार ने एहतियाती कदम उठाते हुए पूरे इलाके में सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं।

सरकार ने जरूरी कदम उठाने के दिए निर्देश

इधर केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने भी ‘डेल्टा प्लस’ (Delta Plus) राज्यों को पत्र लिख जरूरी कदम उठाने का निर्देश दिये हैं। भूषण ने नए वैरिएंट से प्रभावित आठ राज्यों को भी पत्र लिख भीड़ को रोकने और लोगों के मिलने-जुलने और आवाजाही पर नियंत्रण के उपाय करने को कहा है। जहां डेल्टा प्लस के केस मिले हैं, वहां तत्काल कंटेनमेंट जोन बनाएं। पाबंदियों का पालन कराएं और संक्रमितों के नमूने तत्काल जीनोम जांच के लिए भेजें।

Uttarakhand Goverment

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here