Uttarakhand Goverment

दिल्ली। ब्रिटेन और उत्तरी आयरलैंड को मिलाकर इस पूरे भू-भाग को यूनाइटेड किंगडम के नाम से जाना जाता है। इन दिनों उत्तरी इंग्लैंड में उपचुनाव चल रहा है। इस चुनाव में जीत के लिए यहां की सभी पार्टियां जोर आजमाइश में लगी हुई है। लिहाजा आरोप-प्रत्यारोप और विदेश नीति को लेकर भी चर्चा गर्म है।

लेकिन हाल ही में लेबर पार्टी के द्वारा अपने प्रचार सामग्री पर मोदी के फोटो का इस्तेमाल करने से बवाल मचा गया है। इस फोटो को लेकर इंग्लैंड में रह रहे भारतीयों ने तीखी प्रतिक्रिया दी है और लेबर पार्टी का विरोध किया है। लेबर पार्टी ने अपने प्रचार सामग्री पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कंजरवेटिव पार्टी नेता व ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन से हाथ मिलाते हुए दिखाया गया है।

दरअसल इस फोटो के माध्यम से लेबर पार्टी ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में घृणित टिप्पणी की है। लेबर पार्टी ने इशारे-इशारे में कहा गया है कि भारतीय प्रधानमंत्री हाथ मिलाने लायक नहीं है और विभाजनकारी है।

लेबर पार्टी ने लिखा है कि विपक्षी पार्टी यानी कंजरवेटिव पार्टी को अगर वोट किया तो प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के साथ इस तरह की तस्वीर ब्रिटेन वासियों को बार-बार देखना पड़ सकता है। उन्होंने आगाह किया है कि बोरिस जॉनसन की पार्टी को वोट करने की बजाय लेबर पार्टी को वोट करें ताकि मोदी से हाथ मिलाने जैसी नौबत ना है।

इस तस्वीर के छपने के बाद इंग्लैंड में रह रहे भारतीय लोगों की समूह संगठन ने तीखी प्रतिक्रिया दी है और इस तस्वीर को विभाजनकारी व घृणित करार दिया है।

भारतीय समुदाय के संगठन कंजरवेटिव फ्रैंड्स ऑफ इंडिया (CFIN) ने कहा, ‘ भारत दुनिया का सबसे बड़ा बड़ा लोकतंत्र है, ऐसे में वहां के प्रधानमंत्री के बारे में इस तरह की टिप्पणी गलत है। इससे ब्रिटेन में रह रहे 15 लाख भारतीय मूल के लोग काफी आहत हैं। उन्होंने लेबर पार्टी से पूछा कि भविष्य में अगर लेबर पार्टी की ब्रिटेन में सरकार बनती है तो क्या वह भारत के साथ राजनीतिक संबंध नहीं रखेगी ?

Uttarakhand Goverment

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here