Uttarakhand Goverment

देहरादून। उत्तराखण्ड के कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत और पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के बीच चल रही तकरार खुलकर सामने आने लगी है। हरक सिंह रावत ने कहा है कि ढैंचा बीज घोटाला मामले में त्रिवेंद्र सिंह रावत को मैंने बचाया। इस बयान पर त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पलटवार किया है। इसमें उन्होने कहा कि हमारे यहां कहावत है कि गधा ढैंचा-ढैंचा करता है। त्रिवेंद्र के इस बयान के कई मायने निकाले जा रहे हैं। त्रिवेंद्र के इस बयान को हरक सिंह रावत से जोड़ा जा रहा है।

आपको बता दें कि कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत ने अपनी ही पार्टी के विधायक और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत पर एक इंटरव्यू में खुलासा करते हुए दावा कि कांग्रेस शासनकाल में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने ढैंचा बीच घोटाले में त्रिवेंद्र की मुकदमें की फाईल तैयार कर ली थी, लेकिन उन्होने फाईल को रूकवा दिया। अगर वो ऐसा ना करते तो त्रिवेंद्र सिंह रावत आज जेल में होते और वो कभी मुख्यमंत्री नहीं बन पाते।

उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत ने कहा है कि त्रिवेंद्र रावत ढांचा बीच घोटाले में जांच के आधार पर दोषी थे। मानवता के चलते मैंने त्रिवेंद्र रावत को बचाया और क्लीन चिट दिलवाई।

Uttarakhand Goverment

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here